आतंकी हाफिज सईद ने UN में याचिका दायर कर आतंकी लिस्ट से उनका नाम हटाने को कहा |

0
26/11 mastermind hafiz saeed petition in un to remove his name from terror list

आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद ने सयुंक्त राष्ट्र में याचिका लगाई है कि उसे आतंकियों की लिस्ट से बाहर किया जाये |लाहौर की एक लॉ फर्म के माध्यम से लगाई गयी है याचिका

New Hindi News : 26/11 मुम्बई हमले के मास्टरमाइंड कुख्यात पाक आतंकी हाफिज सईद अभी कुछ दिनों पहले ही पाक में नजरबंदी से रिहा हुआ है |  अब वह खुद को आतंकी कहलवाना पसंद नही करता | उसकी इच्छा है कि दुनिया    उसे अब आतंकवादी न माने | अपनी इसी इच्छा को पूरा करने के लिए हाफिज सईद ने सयुंक्त राष्ट्र में एक याचिका दायर की है | उनके संगठन जमात-उद-दावा ने लाहौर की एक लॉ फर्म की और से सयुंक्त राष्ट्र में एक याचिका डाली है जिसमे माँग की गयी है कि उनका नाम आतंकवादियों की लिस्ट से हटा दिया जाये |

26/11 हमले के बाद घोषित किया गया था आतंकी

जमात-उद-दावा के सरगना सईद को संयुक्त राष्ट्र ने नवंबर 2008 में हुए मुबंई हमलों के बाद UNSCT 1267 (यूएन सिक्यॉरिटी काउंसिल रेजॉलूशन) के तहत दिसंबर 2008 में आतंकी घोषित किया था | हाफिज सईद के सिर पर अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर (64.50 करोड़ रुपया) का इनाम घोषित कर रखा है | संयुक्त राष्ट्र लश्कर के मुखौटा संगठन जमात-उद-दावा को पहले ही प्रतिबंधित कर चुका है | ख़बरों के अनुसार फ्रांस ने हाफिज सईद को रिहा करने के पाकिस्तान के निर्णय पर नाराज़गी जताई है | फ़्रांस सरकार भारत के साथ मिलकर आतंकवाद से लड़ने का समझोता कर चुकी है |

अमेरिका ने मुंबई हमलों से पहले ही मई 2008 में हाफिज सईद को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कर दिया था | इतना ही नहीं अमेरिका ने मुंबई हमलों में हाफिज की भूमिका को लेकर उसके सिर पर 1 करोड़ डॉलर के ईनाम की घोषणा कर रखी है |  31 जनवरी 2017  को हाफिज सईद को  उसके 4 सहयोगियों- अब्दुल्लाह उबैद, मलिक जफर इकबाल, अब्दुल रहमान आबिद और काजी काशीफ हुसैन के साथ पंजाब सूबे में  टेररिजम ऐक्ट 1997 के तहत नजरबंद किया था | अब उनकी रिहाई पर अमेरिका ने भी चिंता ज़ाहिर की है |

तो अब सोचने वाली बात ये है कि आतंक का सबसे बड़ा खिलाडी अब खुद को आतंकी कहलवाने में शर्म क्यों कर रहा है ?