धरती की संजीवनी है गाय का घी | जानिए कौन-सी गाय का है आयुर्वेद में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण |

0
benifits of cow ghee

गाय के घी के हैं इतने फ़ायदे कि आप सोच भी नही सकते Benefits of Cow Ghee

अमृत सामान है गाय का घी ! इसके ये जबरदस्त फ़ायदे जानकर यकीन नही कर पाएंगे आप | तो अभी जानिए Benefits of Cow Ghee

Benefits of Cow Ghee:

benifits of cow ghee

भारत भूमि सदा से ही देवताओं की भूमि रही है | यहाँ पर नदियों, पहाड़ों, पेड़ पोधों, पशु-पक्षियों आदि को भी देवी-देवता माना जाता है | सदियों से पूज्य रहे पेड़ों में पीपल,नीम, तुलसी नदियों में गंगा, जमुना और सरस्वती,पक्षियों के गरुड़ व पशुओं में सबसे अधिक पूज्य गाय रहे हैं | ऐसा नही है कि भारत के लोग इनकी पूजा किसी अन्धविश्वास के कारण करते हैं | बल्कि इसका मूल कारण सिर्फ इतना ही है कि आज के विज्ञान से विकास से सदियों पहले हमारे महान विज्ञानिकों यानि ऋषि-मुनियों ने ये जान लिया था कि इन चीज़ों व प्राणियों का हमारे जीवन में कितना उपयोग है |

बात करते है गाय की तो भारत में गाय को माता का दर्ज़ा दिया गया है | आयुर्वेद के अनुसार इसका दूध-घी ही नही मूत्र भी काफी उपयोगी है | लेकिन यहाँ अब हम गौघृत यानि गाय के घी के औषधीय गुणों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं |

नाक में डालने के लाभ :

  • गाय का घी नाक में डालने से मानसिक रोग, पागलपन, उन्माद ठीक हो जाता है |
  • इसको नाक में डालना आँखों के लिए हितकारी है |
  • गौघृत को नाक में डालने से लकवा ठीक हो जाता है |
  • इससे स्मरण शक्ति में बढ़ोतरी होती है |
  •  बाल झड़ना बन्द हो जाते हैं |
  • दिमाग तरोताजा हो जाता है |
  • कोमा में गया हुआ मरीज़ भी कोमा से बाहर आ जाता है |
  • इससे सुनने व सूंघने की शक्ति में वृद्धि होती है |
  • बेहोश हुए व्यक्ति में भी चेतना का संचार हो जाता है |
  • नाक का सूखापन तथा एलर्जी समाप्त हो जाती है |
  • बालों का सफेद होना रुक जाता है |
  • शरीर के त्रिदोष यानि  वात , पित व कफ़ संतुलन में रहते हैं |

मालिश के फ़ायदे :

  •  गाय के घी की शरीर पर मालिश करने से शरीर की खुश्की दूर होती है |
  • शरीर में ताजापन महसूस होता है |
  • वात दोष के बढ़ने के कारण शुरू हुआ जोड़ों का दर्द एक सप्ताह में ही काफूर हो जाता है |
  • पाँव व तलवों में मालिश करने से तलवों की जलन व गर्मी दूर हो जाती है |
  • इसकी सिर में मालिश करने से अचेतन पड़ा व्यक्ति भी होश में आ जाता है |
  • शरीर के किसी भी अंग के आग में जलने से उत्पन्न हुई पीड़ा गाय के घी की मालिश करने से शीघ्र शांत हो जाती है |

गाय के घी के खाने के फ़ायदे :

  • गाय के घी में स्वर्ण यानि सोने की मात्रा पाई जाती है | इसलिए आयुर्वेद के अनुसार इसका घृत रसायन का काम करता है | यानि बुढ़ापा रोकने वाला और योवन का बरक़रार रखने वाला होता है |
  • यह शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को प्राकृतिक तरीके से बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के कम करता है |
  • यह मोटापे को कम करने में सहायक है |
  • हार्ट-अटैक के खतरे को 70 प्रतिशत तक कम करता है |
  • शारीरिक कमजोरी और सेक्सुअल वीकनेस को दूर करता है |
  • शुक्राणुओं की संख्या में बढ़ोतरी करता है |
  • नपुंसकता को दूर करता है |

अब Next Page पर Click करके जानिए कौन-सी गाय का घी आयुर्वेद के अनुसार उपयोगी है -:

Previous1 of 2Next
अगला पेज