‘कड़वी मेथी में छिपे हैं मीठे गुण’ | जानिए स्वास्थ्यवर्धक मेथीदाने के अद्भुत फ़ायदे |

0
benefits of methi dana for health

सेहत का खज़ाना है मेथी दाना | बुढ़ापे तक जवान बने रहने के लिए मेथी दाना सबसे अद्भुत औषधी है |

Benefits of Methi Dana for Health:

कहते हैं ‘पहला सुख निरोगी काया’ | ये शत-प्रतिशत सत्य है | अगर आप अपने स्वास्थ्य के प्रति थोड़े से भी जागरूक हैं तो आपको मेथी दाने के महत्व का तो पता ही होगा | बुढ़ापे में होनी वाली बिमारियों जैसे – उच्च रक्तचाप, मधुमेह , जोड़ों का दर्द, कमजोरी आदि रोगों से बचने के लिए मेथी दाने का प्रयोग करें | यदि बीमारी होने पहले ही आपथी दानों का सेवन आरम्भ कर देते है तो ये सभी बीमारी आपको जीवन भर लगेगी ही नही |

मेथी दानों का प्रयोग :

सबसे पहले जानिए मेथी दानो का प्रयोग किस उम्र के व्यक्ति को कितनी मात्रा में करना होता है ? आपकी जितनी उम्र है उतने मेथी के दाने लीजिये और उन्हें शाम के समय पानी में भिगोकर रख दें | सुबह के समय इन दानों को खूब चबा-चबाकर खाएं | इसके अलावा मेथी दानों को अंकुरित करके भी खाया जा सकता है | कढ़ी या दलिया आदि में इसका छोंक लगाकर प्रयोग में लाया जा सकता है | सर्दियों में मेथी के लड्डू बनाकर खाएं |

मेथी दाने के लाभ :

मेथी दाने के सेवन से व्यक्ति सदा जवान व चुस्त बना रहता है | बुढ़ापा उसके आसपास भी नही फटकता |मधुमेह, जोड़ों का दर्द, उच्च रक्तचाप जैसे रोग इसके थोड दिनों के सेवन से ही काफूर हो जाते हैं | इसके अलावा यह सुजन, किसी भी प्रकार का पेन, लकवा, मांसपेशियों की कमजोरी , बहुमूत्र (बार-बार पेशाब आना) ये सभी रोग दूर करती है | इसके अलावा सेक्स रोगों में भी मेथी दाने का प्रयोग किया जाता है | यह कामेच्छा बढ़ाने वाला होता है | शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि करने नपुंशकता को दूर करने का काम करता है | महिलाओं में प्रसव पीड़ा को कम करता है | वजन कम करता है |

ये भी रखें ध्यान -:

मेथी दाने का प्रयोग करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि इसे सिमित मात्रा में सेवन करें | इसका अधिक सेवन नुकसान भी कर सकता है | ग्रीष्म ऋतू में इसे भिगोकर खाएं | लड्डुओं का सर्दियों में प्रयोग करना बेहतर है |