चेतक की वंशज मानी जा रही इस घोड़ी की लग चुकी है 2 करोड़ की बोली |

0
chetak ki vanshaj padma ghodi ki kimat 2 crore

chetak ki vanshaj padma ghodi ki kimat 2 crore

एक मेले में पद्मा नामक इस घोड़ी पर 2 करोड़ रूपये की बोली लग चुकी है| लेकिन मालिक बेचने को तैयार नही|

New Hindi News : महाराष्ट्र राज्‍य के नंदूरबार जिले के सारंगखेडा में घोड़ों के लिए चेतक मेले का आयोजन किया जाता है | इस मेले में दूर-दूर से घोड़ों के शौक़ीन लोग शिरकत करते हैं | और जब कोई पारखी दृष्टि किसी घोड़े की नस्ल को पहचान कर उसके लिए दीवाना हो जाता है तो कोई भी कीमत देने को तैयार हो जाता है | इस बार इस मेले में पद्मा नामक घोड़ी सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बनी रही | जिसकी एक अश्व प्रेमी से 2 करोड़ तक बोली लगा दी |

एक रिपोर्ट के मुताबिक, सारंगखेडा घोड़ा मेले में शामिल होने वाले अश्‍वों की संख्‍या 2000 से ज्‍यादा है| इन घोड़ों में सबसे ज्‍यादा चर्चा है इनमें पद्मा घोड़ी की जिसे इस मेले की सबसे ऊंची और सुंदर अश्‍व बताया जा रहा है| पद्मा को इंदौर के दतोदा के बालकृष्ण चंदेल लेकर आए थे| बालकृष्ण चंदेल ने मीडिया से बातचीत में बताया कि पद्मा के रखरखाव पर वे खूब ध्‍यान देते हैं|  बालकृष्ण के अनुसार –  दूध जैसी सफेद पद्मा को वे रोजाना 8 लीटर दूध, मिनरल पानी, 2 किलो चना, 5 किलो गेहूं की चापड़ व स्वाद अनुसार हरी घास खिलाते हैं|

काजू-किसमिस खाती है और ए.सी. में रहती है पद्मा

करीब पांच साल की पद्मा का कद लगभग 6 फ़ीट है| चंदेल ने चार साल पहले आगरा के एक किसान से पद्मा को छह लाख रुपए में खरीदा था| चंदेल का पूरा परिवार पद्मा की देखरेख करता है| पद्मा को रोज़ 10 लीटर गाय का दूध पिलाते हैं| रोज उसको आधा किलो काजू और बादाम भी खिलाते हैं| चंदेल के मुताबिक़ पद्मा को नहाने का बहुत शौक है| जब तक उसे शैंपू से नहलाया ना जाए, तब तक वह सवारी के लिए तैयार नहीं होती|

यही नहीं, ठंड में उसे हीटर और गर्मी में एयर कंडीशन में रखते हैं| चंदेल ने बताया कि घोड़ों के परखदार पद्मा की कद-काठी व नस्ल के आधार पर उसे राणा प्रताप के घोड़े चेतक की वंशज मानते हैं|

बताया जा रहा है कि इस घोड़ी के लिए अब तक 2 करोड़ की बोली लग चुकी है लेकिन इसके मालिक  बालकृष्ण इसे बेचने के लिए तैयार नहीं हैं|

चंदेल बताते हैं कि पुष्कर मेले में पद्मा सबके आकर्षण का केंद्र थी| मेले का निरीक्षण करने आईं राजस्थान की सीएम वसुंधरा भी उसे देख काफी खुश हुईं| वसुंधरा जी का कहना था कि यदि पद्मा का रंग ब्राउन होता तो वे उसे तुरंत खरीद लेती|

chetak ki vanshaj padma ghodi ki kimat 2 crore

यह भी पढ़ें -: जिस ICS को पास करने के लिए ब्रिटिश युवा भी 4 साल कड़ी मेहनत करते थे, नेताजी ने 7 महीनों में ऐसे किया था टॉप

खबरों के मुताबिक, पद्मा ने गत वर्ष सारंगखेड़ा में ही सुंदर घोड़ों के प्रदर्शन में एक लाख रुपए का इनाम जीता था| इसके अतिरिक्त गुजरात, पंजाब व राजस्थान के अश्व मेलों में वह पूर्व में इनाम जीत चुकी है| करीब 5 साल की पद्मा की ऊंचाई देश में फ‍िलहाल सर्वाधिक 72 इंच है|