अपने जीवन की सुरक्षा के लिए खुद घर पर ही ऐसे बनायें फर्स्ट ऐड किट

0
prepare first aid kit at home

दुर्घटना कहीं भी और कभी भी घट सकती है | ऐसे में यदि आपके पास फर्स्ट-ऐड किट है और आप इसे इस्तेमाल करने का सही तरीका जानते हैं तो आप अपना व अपनों का जीवन बचा सकते हैं |

New Hindi News : फर्स्ट ऐड यानि प्राथमिक चिकित्सा अचानक हुई कोई दुर्घटना या बीमारी के घटित होने की स्थिति में जब तक कोई फॉर्मल चिकित्सा सहायता व्यक्ति के पास पहुँचती है इसमें बहुत समय लग सकता है | यह स्थिति किसी के भी जीवन में आ सकती है | ऐसे में यदि व्यक्ति के पास फर्स्ट ऐड किट है और थोड़ी बहुत इसकी जानकारी है तो वह खुद अपनी या फिर अपनों की जिंदगी बचा सकता है | इसलिए सरकार भी समय-समय पर फर्स्ट ऐड के कोर्स प्रोग्राम ऑर्गनाइज करती रहती है |

कुछ मामलों में प्राथमिक चिकित्सा बाद में अस्पताल में होने वाले इलाज से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण होती है | उदाहरण के लिए सांप के काटने पर अगर तुरंत उपाय किए जाएं तो व्यक्ति को बचाया जा सकता है | समस्याओं की जानकारी रखना और बचाव के उपायों पर ध्यान देना यह भी जरुरी है |

फर्स्ट ऐड का उद्देश्य

1.जीवन को बचाना।
2. कष्टों का रोकथाम।
3. विनाशक स्थिति से बचाना

घर में अक्सर छोटी छोटी चोटें लगती रहती है जैसेकि सब्जी काटते वक़्त हाथ कटना, तार ठीक करते वक़्त करंट लग्न, बच्चे को खेलते हुए कोई चोट लग जाये इत्यादि | तो उसका उपचार करने के लिए आप घर में भी एक फर्स्ट ऐड किट तैयार कर सकते हो | जिसके लिए आप सबसे पहले एक चौकोर आकार के डब्बा लें और उस पर सफ़ेद कागज चिपका  दें | उसके बाद आप किट के ऊपर और साइड में लाल स्केच पैन से क्रोस का निशान बना दें | ये निशान फर्स्ट ऐड बॉक्स को दर्शाता है | इसके बाद आप इसमें निम्नलिखित सामान डालें-

prepare first aid kit at home

  छोटी कैंची ( Small Scissor )

  डेटोल / सेवलॉन/ एंटी बैक्टीरियल की शीशी ( Antibacterial Bottle )

   रुई का बंडल ( Bundle of Cotton )

   पट्टी के बंडल ( Bundle of Strip / Bar )

   5 से 6 बैंडेज ( 5 – 6 Bandage )

   चिपकने वाली मेडिकल टेप ( Medical Tape )

    सर्दी – खांसी, सिर दर्द, बुखार की दवा ( Tablets for Cough, Headache and Fever )

   क्रेप बैंडेज ( Cramp Bandage )

   रबर के दस्ताने ( Rubber Gloves )

    चिमटी ( Tweezers )

    सुई ( Injections )

    पेट्रोलियम जेली ( Petroleum Jelly )

    छोटी टोर्च ( Small Torch )

    थर्मामीटर ( Thermometer )

    टूथपेस्ट ( Toothpaste )

    ग्लूकोस ( Glucose )

    विटामिन की गोलियां ( Vitamin Tablets ) आदि रखें

यह भी पढ़ें -: पौरुष शक्ति बढ़ाने के लिए घर पर ही तैयार करें आयुर्वेदिक दवा | ये रहा जबर्दस्त नुक्सा