वर्ष 2018 में दिखेंगे 2 चंद्रग्रहण और 3 सूर्यग्रहण और जानें कहाँ घटेगी ये अनोखी खगोलीय घटना

0
saal 2018 mein 2 chandergrhan aur 3 suryagrahan aayenge

वर्ष 2018 में जानिए कब-कब दिखाई देंगे 2 चंद्रग्रहण और 3 सूर्यग्रहण  

News Source : नववर्ष 2018 का पहला चंद्रग्रहण पहले माह यानि जनवरी में ही दिखाई दे रहा है| और इस पुरे साल में 2 चंद्रग्रहण और 3 सूर्यग्रहण दिखाई देंगे| सबसे पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी, 2018  को होगा|यह माघ शुक्ल पूर्णिमा को बुधवार के दिन होगा| यह चंद्रग्रहण कर्क राशि पर होगा और यह सम्पूर्ण भारत में दिखाई देगा|

हालांकि, हिन्दू वर्ष विक्रम संवत् 2074 का यह अंतिम ग्रहण होगा| यह माघ शुक्ल पूर्णिमा को बुधवार के दिन होगा| इस चंद्र ग्रहण का सूतक बुधवार को सुबहर 8.21 मिनट से प्रारंभ होगा| ग्रहण का स्पर्श काल सायं 5.21 मिनट से एवं मोक्ष (शुद्धिकाल) रात्रि 8.45 मिनट पर होगा|

यह ग्रहण पुष्य, आश्लेषा नक्षत्र और कर्क राशि में होगा| अतः जिनका जन्म इन नक्षत्रों और कर्क राशि या कर्क लग्न में हुआ है उनके लिए यह कष्टप्रद रहेगा। वृषभ, कन्या, तुला व कुंभ राशि व लग्न वालों को श्रेष्ठ| मिथुन, वृश्चिक, मकर व मीन राशि व लग्न वालों के लिए मध्यम। मेष, कर्क, सिंह व धनु राशि वालों के लिए अशुभ है|

ग्रहण काल में इन बातों का रखें ध्यान

ग्रहण के समय अशुभराशि वालों, रोगी एवं गर्भवती स्त्रियों को ग्रहण नहीं देखना चाहिए| इस दौरान ईश्वर आराधना, मंत्र जाप, संकीर्तन आदि करने से लाभ मिलता है। ग्रहण के दौरान खाद्यान्न दूषित हो जाते हैं| इसलिए पर्व काल के दौरान भोजन ग्रहण नहीं करना चाहिए|

ग्रहण प्रारंभ होने के पूर्व खाने-पीने की वस्तुएं, पके भोजन, दूध, दही, घी, मक्खन, अचार, पानी, आदि में कुश या तुलसी डाल देनी चाहिए| इससे ये खाद्य पदार्थ दूषित नहीं होते हैं|

दूसरा चंद्र ग्रहण जुलाई में

वर्ष 2018 में दो चंद्रग्रहण और तीन सूर्यग्रहण आएंगे| इनमें से सिर्फ चंद्रग्रहण ही भारत में दिखाई देंगे| सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देंगे|

साल का दूसरा चंद्रग्रहण 27-28 जुलाई 2018 आषाढ़ पूर्णिमा के दिन होगा। यह ग्रहण रात्रि में 11.54 मिनट पर प्रारंभ होकर 3.49 मिनट पर समाप्त होगा| ग्रहण की कुल अवधि 3.55 मिनट होगी। यह खग्रास चंद्रग्रहण उत्तराषाढ़ा, श्रवण नक्षत्र तथा मकर राशि में होगा|

जिनका जन्म इन नक्षत्र और मकर राशि व मकर लग्न में हुआ है उनके लिए कष्टप्रद रहेगा| मेष, सिंह, वृश्चिक व मीन राशि व लग्न वालों के लिए श्रेष्ठ। वृषभ, कर्क, कन्या व धनु राशि वालों के लिए मध्यमफलप्रद| मिथुन, तुला, मकर व कुंभ के लिए नेष्टप्रद रहेगा|

तीन सूर्य ग्रहण, लेकिन भारत में नहीं दिखेंगे

इसके अलावा तीन सूर्यग्रहण भी इस साल होंगे, लेकिन ये भारत में नहीं दिखाई देंगे| फाल्गुन कृष्ण अमावस्या को गुरुवार 15 फरवरी, आषाढ़ कृष्ण अमावस्या को शनिवार 13 जुलाई और पौष कृष्ण अमावस्या को शनिवार 11 अगस्त को तीसरा सूर्य ग्रहण होगा|