सलमान खान के टॉप 10 डायलॉग जिनसे सभी के दिलों में अभी भी ‘जिंदा है टाइगर’!

0
salman khan ke top 10 damdar dialogue

पढ़िए सलमान खान के फेमस डायलॉग जिसने बनाया सलमान को रियल टाइगर |

New Hindi News : सलमान खान का जीवन किसी फ़िल्मी कहानी से कम नही है| ऐसे ही उनको दबंग खान नही कहा जाता| इंदौर में पले-बढे सलमान को फिल्मों में अपनी जगह बनाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा था| आज हम आपको उनकी फिमलों के कुछ दमदार डायलॉग बताने जा रहे हैं जो उनकी असली जिन्दगी से भी काफी मेल खाते हैं| सिनेमा में दमदार डायलॉग का एक अलग ही महत्व है| इससे न केवल फिल्म में जान फूंक देते हैं बल्कि हीरो की छवि भी निखरती है|

कभी इंदौर की गलियों में साईकिल चलाने वाला व पतंग उड़ाने वाला यह बच्चा बॉलीवुड का इतना बड़ा स्टार बन जायेगा किसी को उस समय रत्ती भर भी इल्म नही था| सलमान के बोले डायलॉग लोगों के दिलों में ऐसा जादू करते हैं कि हर कोई उनका दीवाना हो जाता है| जानिए कौन-कौन से हैं उनके बेहतरीन डायलॉग-

Salman Khan ke Top 10 Damdar Dialogue

शिकार तो सब करते हैं, लेकिन ‘टाइगर’ से बेहतर शिकार कोई नहीं करता

(टाइगर जिंदा हैं,2017)

 ऊपर वाला स‍िर देखकर सरदारी देता है और ये मौका बहुत कम खुशनसीबों को मिलता है… 

(टाइगर जिंदा हैं,2017)

मैंने पहलवानी जरूर छोड़ी है लेकिन लड़ना नहीं भूला

(सुल्तान,2016)

Salman Khan ke Top 10 Damdar Dialogue

हमारे यहां डिवोर्स नहीं होते हैं, लड़ाई होती है, झगड़ा होता है, लुगाइयां पैदा ही लड़ने के लिए होती हैं, ये बॉर्न फाइटर्स होती हैं|

(सुल्तान,2016)

हम बजरंग बली के भक्त हैं कोई काम चोरी-छिपे नहीं करते

(बजरंगी भाईजान,2015)

‘मेंरे बारे में इतना मत सोचना, दिल में आता हूं समझ में नहीं’ 

(किक,2014)

स्वागत नहीं करोंगे हमारा’ 

(दबंग-2,2012)

‘मुझपे एक एहसान करना, मुझपे कोई एहसान मत करना’ 

(बॉडीगार्ड,2011)

यह भी पढ़ें -: जब डायरेक्टर ने सलमान को दिया ऐश्वर्या राय के भाई का रोल | इस पर ये बोले ‘सल्लू मियाँ

‘जिंदगी में तीन चीजें कभी अंडरएस्टीमेट नहीं करना- आई, मी एंड मायसेल्फ’ 

(रेडी,2011)

‘हम यहां के रॉबिनहुड हैं… रॉबिनहुड पांडे’ 

(दबंग,2010)

‘एक बार जो मैंने कमिटमेंट कर दी, तो फिर मैं अपने आप की भी नहीं सुनता’ 

( फिल्म वांटेड )