दिल्ली के स्कूल में बाथरुम की कुण्डी लगाकर स्टूडेंट ने 44 वर्षीय टीचर से की सम्बंध बनाने की मांग |

0
student locked teacher in bathroom and ask to fulfill his shameful demand

घटना पिछले साल  2017 की है जो दिल्ली के एक स्कूल में घटित हुई थी| दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में एक शिक्षिका के साथ ऐसी घटना घटित हुई जिसे सुनकर कोई भी हैरान रह जाएगा| 44 वर्षीय शिक्षिका को कथित तौर पर उसके ही विद्यार्थी ने बाथरुम में बंद कर दिया। और तो और बाहर निकलने के एवज में ‘सेक्सुअल फेवर’ की डिमांड की गई|दिल्ली पुलिस ने इस मामले को आईपीसी की धारा 354-ए और 509 के अंतर्गत दर्ज किया| और जाँच में जुट गयी| इस दौरान पुलिस अधिकारीयों ने स्टाफ के अन्य सदस्यों के साथ कई बच्चों से भी पूछताछ की| और घटनास्थल का भी जायजा लिया|

बाथरुम की कुण्डी खोलने के लिए स्टूडेंट ने अपनी ही 44 वर्षीय शिक्षिका के सामने रखी ये शर्त 

सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार, ‘शिक्षिका बाथरुम में थीं। तभी उन्होंने कुछ आवाजें सुनी। उन्हें यह महसूस हुआ कि बाहर से दरवाजा बंद कर दिया गया है। शुरूआत में टीचर ने स्टूडेंट से विनती की कि उन्हें बाहर आने दें। मगर इसके बाद स्टूडेंट ने उन्हें गालियां देना शुरू कर दिया। फिर स्टूडेंट ने टीचर से ‘सेक्सुअल फेवर’ की डिमांड की। इसके एवज में दरवाजा खोलने की बात की। टीचर ने जब चिल्लाकर मदद मांगी तो स्टूडेंट वहां से भाग गया।’

थोड़ी देर बाद स्टाफ के सदस्यों ने टीचर को वहां से निकाला। शिक्षिका ने तुरंत स्कूल के प्राचार्य को इस बारे में सूचना दी। उन्होंने शिक्षिका से कहा कि वो प्रार्थना के समय उस स्टूडेंट की पहचान करें| लेकिन टीचर सभी बच्चों में से उस एक आरोपी को पहचान नही पायी|

पीड़ित 44 वर्षीय शिक्षिका ने बताया- “आरोपी लड़का मुझसे बेहद अश्लील भाषा में बात कर रहा था और बाथरूम का दरवाज़ा खोले के बदले उससे सम्बंध बनाने की मांग कर रहा था| मुझे उसकी शर्त मानने की बात कहनी पड़ी क्योंकि इसी शर्त पर वह दरवाजा खोलने वाला था। जैसे ही दरवाजा खुला मैं चिल्लाई और वह भाग गया। मैं वेंटीलेटर से सिर्फ उसकी एक झलक देख सकी उसका चेहरा नहीं देख सकी। मैं इतनी सदमे में थी कि मेरा ध्यान उसके चेहरे पर नहीं था। मैं वह 15 मिनट कभी नहीं भूल सकती।”