जब लालू के बेटे ने कहा “मोदी की खाल खिंचवा दूंगा ” ! फिर हुआ ऐसा कुछ की जिससे….

0
tej pratap controversial statement on pm narendra modi

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने सुशील मोदी के बाद अब सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विवादित बयान दिया है. लालू यादव की सुरक्षा घटाए जाने से तेज प्रताप का काफी नाराज हैं और उन्होंने पीएम मोदी को धमकी डाली है. जब उनसे लालू की सुरक्षा घटाने को लेकर सवाल किया गया तो तेज प्रताप ने कहा ‘हम लोगों का आए दिन कार्यक्रमों में आना-जाना होता है, लालू जी भी कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेते ही रहते हैं, ऐसे में सुरक्षा वापस लेना हत्या कराने की साजिश है, हम इसका मुंहतोड़ जवाब देंगे, नरेंद्र मोदी जी की खाल उधड़वा देंगे’.

इससे पहले तेज प्रताप ने लालू की सुरक्षा घटाए जाने के मुद्दे पर तेज प्रताप ने ट्वीट किया, ‘आदरणीय श्री लालू प्रसाद यादव जी के सुरक्षा के साथ खिलवाड़, केन्द्र की गन्दी राजनीति, उनकी हत्या कराने की साजिश, भगवान न करे लेकिन अगर आदरणीय लालू जी को एक खरोच भी आई तो इसके जिम्मेदार नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार होंगे’. तेज प्रताप बीजेपी नेताओं में कड़ा हमला बोल रहे हैं.

सुशील मोदी को भी दी धमकी

तेज प्रताप यादव ने बुधवार को औरंगाबाद में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को धमकी दी थी. उन्होंने कहा था सुशील मोदी को उनके घर में घुसकर उनको मारेंगे. सुशील मोदी ने लालू परिवार को अपने बेटे के विवाह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था. इसके बाद लालू ने मीडिया में यह बयान भी दिया था कि सुशील मोदी अपने बेटे की शादी निश्चिंत होकर करें, तेज प्रताप वहां कोई भी हंगामा नहीं करेंगे.

‘पिता की हत्या की साजिश’

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और लालू यादव के बेटे तेजस्वी ने पिता की सुरक्षा घटाए जाने को केंद्र की साजिश बताया है. उन्होंने आरोप लगाया कि यह लोग मेरे पिता की हत्या कराना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि लालू यादव, नीतीश और बीजेपी की हिटलिस्ट में हैं, अगर मेरे पिता को कुछ हुआ तो नीतीश और पीएम मोदी जिम्मेदार होंगे. तेजस्वी ने कहा कि जो भी केंद्र सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करता है, उसे दबाने की कोशिश की जाती है. उन्होंने कहा कि सुरक्षा घटाने का फैसला पूरी तरह राजनीति से प्रेरित है.

 फैसला राजनीति से प्रेरित नहीं

लालू यादव की सुरक्षा घटाए जाने के मुद्दे पर बीजेपी नेता सुशील मोदी का कहना है कि इस फैसले का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि फैसला पूरी तरह गृह मंत्रालय की ओर से लिया गया है और सुरक्षा एजेंसियां जो रिपोर्ट मंत्रालय को देती हैं उसी के आधार पर सुरक्षा घटाने-बढ़ाने का फैसला लिया जाता है. बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने अपनी सुरक्षा घटाने के मुद्दे पर नाराजगी जताई है.

पूर्व सीएम मांझी ने कहा कि नक्सल प्रभावित इलाके में भी हम दौरा करते हैं और मेरी जान को खतरा रहता है. अगर मुझे कुछ हुआ तो केंद्र की बीजेपी सरकार और बिहार की नीतीश सरकार जिम्मदार होगी. गृह मंत्रालय ने मांझी को मिली जेड प्लस सुरक्षा भी वापस ले ली है.

खबर स्त्रोत: आज तक